भगवान श्री वासुपूज्य की आरती

भगवान श्री वासुपूज्य की आरती

तर्ज—ॐ जय…… ॐ जय वासुपूज्य स्वामी, प्रभु जय वासुपूज्य स्वामी।पंचकल्याणक अधिपति-२, तुम अन्तर्यामी।।ॐ जय.।। चंपापुर नगरी भी, धन्य हुई तुमसे।स्वामी...

भगवान श्री श्रेयांसनाथ की आरती

भगवान श्री श्रेयांसनाथ की आरती

तर्ज—इह विधि मंगल आरति…… प्रभु श्रेयांस की आरति कीजे,भव-भव के पातक हर लीजे ।।टेक.।। स्वर्ण वर्णमय प्रभा निराली,मूर्ति तुम्हारी है...

आरती: भगवान श्री शीतलनाथ जी (Arti Bhagwan Shri Sheetalnath Ji)

आरती: भगवान श्री शीतलनाथ जी (Arti Bhagwan Shri Sheetalnath Ji)

ॐ जय शीतलनाथ स्वामी,स्वामी जय शीतलनाथ स्वामी।घृत दीपक से करू आरती,घृत दीपक से करू आरती।तुम अंतरयामी,ॐ जयशीतलनाथ स्वामी॥॥ ॐ जय...

आरती पुष्पदंत जी

आरती पुष्पदंत जी

ओम जय पुष्पदन्त स्वामी, प्रभु जय पुष्पदंत स्वामी । काकंदी में जन्मे, त्रिभुवन नामी, ओम सब उतारे तेरी आरती ॥  ओम...

भगवान श्री सुपार्श्वनाथ की आरती

भगवान श्री सुपार्श्वनाथ की आरती

तर्ज—फूल तुम्हें भेजा……. आओ सभी मिल आरति करके, श्री सुपार्श्व गुणगान करें।मुक्ति रमापति की आरति, सब भव्यों का कल्याण करें।।टेक.।।...

श्री पद्म प्रभु भगवान आरती

श्री पद्म प्रभु भगवान आरती

जय पद्मप्रभु देवा, स्वामी जय पद्मप्रभु देवा ।  जय पद्मप्रभु देवा, स्वामी जय पद्मप्रभु देवा ।  तुम बिन कौन जगत...

भगवान श्री सुमतिनाथ की आरती

भगवान श्री सुमतिनाथ की आरती

तर्ज—चाँद मेरे आ जा रे……. आरती सुमति जिनेश्वर की,सुमति प्रदाता, मुक्ति विधाता, त्रैलोक्य ईश्वर की।।टेक.।। इक्ष्वाकुवंश के भास्कर, हे स्वर्णप्रभा...

भगवान श्री संभवनाथ की आरती-३

भगवान श्री संभवनाथ की आरती-३

तर्ज—मैं तो आरती उतारूं रे…….. मैं तो आरती उतारूं रे, सम्भव जिनेश्वर की,जय जय जिनेन्द्र प्रभु, जय जय जय-२।।टेक.।। इस...

अजितनाथ जी आरती

अजितनाथ जी आरती

जय श्री अजित प्रभु, स्वामी जय श्री अजित प्रभु । कष्ट निवारक जिनवर, तारनहार प्रभु ॥ पिता तुम्हारे जितशत्रू और,...

Aadinath Bhagwan ki Aarti | आदिनाथ भगवान आरती |

Aadinath Bhagwan ki Aarti | आदिनाथ भगवान आरती |

आरती उतारूँ आदिनाथ भगवान की माता मरुदेवि पिता नाभिराय लाल की रोम रोम पुलकित होता देख मूरत आपकी आरती हो...